ब्लैक मैजिक काला जादू सीखना या सिखाना black magic kala jadu sikhna

ब्लैक मैजिक काला जादू सीखना या सिखाना black magic kala jadu sikhna kala jadu kala jadoo in hindi kala jadu kaise kare kala jadu ka tod kala jadu ka
Sakoonedil

ब्लैक मैजिक काला जादू सीखना या सिखाना black magic kala jadu sikhna

kala jadu
kala jadoo in hindi
kala jadu kaise kare
kala jadu ka tod
kala jadu karne ka tarika
kala jadu kaise sikhe
jadu घर

aulad ke liye dua

रूहानी अमलियात

kala Jadu




ये बात मुसललिम और तैं सुदा है कि इस दुनिया मे किसी भी मुआमले मे कोई भी फार्मूला और कोई भी तरीका उस वक़्त तक कारगर और नतीजा खैर शाबित नहीं हो सकता जबतक मालिके कोने वा मकां की मर्जी शामिले हाल ना हो तावीज वाजीफा(wazifa) हो या अमलियात(amliyat) के जखीरे हों सबके सब बेरूह और बेजान करार पाते हैँ अगर मालिके कोन वा मकां की रजा वा कजा से ये मेहरूम हों तावीज फी नफसा मोस्सर नहीं है तावीज की हैसियत अगर अल्लाह जल्ला जलालहू की मर्जी शामिल ना होतो फकत कागज की एक पुर्जे की सी है लेकिन सिर्फ एक ताबीज ही नहीं बल्कि दुनिया के हर हर तरीका इलाज की यहि हैसियत है अगर अल्लाह इसमें अपनी मर्जीयात को दाखिल ना करे टेबलेट्स और कैप्सूल चॉकलेट और चुम्बक से जियादा हैसियत नहीं रखते अगर अल्लाह मरीज को शिफा देने का इरादा ना फरमाये,


आज की दुनिया के मादा प्रस्त लोगों नें या उन कोरे जाहिलों नें जो इस्लामी अकायद की गहराइयो से वाकिफ नहीं हैँ तावीजात के खिलाफ बहुत ले दे की है और उनके तासीरात के खिलाफ बहुत हंगामे मचाये हैँ लेकिन उन्ही हजराते अकल ने दवाओं और खमीरो को अमलन फी नफसा मोस्सर माना है गो जुबान से वोह इसबात का इंकार करते हैँ लेकिन उनके अकवाल वा अहवाल से साफ तौर पर ये मूतरसा होता है कि जीशुन्दे और खमीरा मुर्दारेद और टेकसा और टेटसरा कैप्सूल वगैरह को वोह फी जाता मोस्सर ख्याल करते हैँ और उनपर ईमान लाते हैँ हालांकि दुनिया की तमाम दवाओं की भी वही पोजीशन है जो अज राहे अक़ीदह तावीजात की है अल्लाह की मर्जी के बगैर अगर रूहानी अमलियात बे असर हैँ तो अल्लाह की मर्जी के बगैर मेडिशियन जड़ी बूटीया भी कटअन हीच और ला माना हदीष पाक से ये साबित है कि दवा हल्क मे जाते वक़्त अपने रब से सरगोसी करते हुऐ ये कहती है कि मैं इस मरीज के मर्ज को बढ़ाऊ या घटाऊ या इसी हालत पर रहने दूँ और फिर जो फैसला हक ताला का होता है उसी नौयेत का असर दवा के जरिया हासिल होता है दवा कभी फायदा भी करती है और कभी नुकसान भी पहुँचाती है आमतौर पर इसे रियक्सन कहते हैँ शरीयत ने दुनिया को दारुल असबाब मानते हुऐ अमराज से निपटने के लिये इलाज की इजाजत दी और इलाज हर नबी की सुन्नत भी रहा है लेकिन शरीयत ने किसी वसीला मुदाफअत और किसी तरीका इलाज को मायूब करार नहीं दिया है अजरद्दे शरह सिर्फ उन तरीकों को मरदूद बताया गया है जिन मे गैरुल्लाह से इस्तियानत तलब की जाती हो या जिन पर भरोसा हद से जियादा करली जाती हो यानि उस अंदाज मे करलिया जाता हो कि जैसे ये तरीके मोस्सर हैँ और अपनी तासीरात के खुदही खालिक हैँ वर्ना शरीयते इस्लामिया मे इलाज का कोई भी तरीका मबूज नहीं है ना जिस तरीके से इन्सान को सिफा मिलने का इमकान हो उस तरीके को बराये इलाज इख़्तियार करने मे कोई मुजयका नहीं है यूनानी इलाज हो या या एलोपेथक या होम्योपैथिक ये सब ही जायज हैँ उसी तरह जो इलाज हरुफ वा अदाद के जरिये किये जाते हैँ वोह भी सबके सब जायज हैँ और उनपर भी शरीयत किसी तरह का कोई कदगन नहीं लगाती अलबत्ता शरीयत इस बात की मुत्काजी हर जघा नजर आती है कि हर बन्दा हर तरह का इलाज वा मुअलजे से फायदा उठाते वक़्त उस यकीन को पामाल ना होने दे कि बीमारी के बाद शिफा और सेहत अता करने वाली असल जात खालिके कायनात की है और आफतो के बाद राहते और तूफान के बाद सुकून अता करने वाली जात भी खालिके कायनात ही की है ये जाते ग्रामी अगर किसी को ज़िन्दगी देने का फैसला कर चुकि होतो जहर हालाहल भी उसको नुकसान नहीं पहुंचा सकता और ये जाते ग्रामी किसी को मौत देने का फैसला कर चुकि होतो तर्याक भी उसे जिन्दगी अता नहीं कर सकता ये यकीन करने और अता करने वाली जात अल्लाह की और सिर्फ अल्लाह की है अगर दिल की गहराई मे जागजे होतो फिर इलाज दवा से हो जड़ी बूटी से हो या हरुफ और अदाद से हो अकल से हो या मसीनो से हो इन्सान के अकीदे को मजरूह नहीं करता और उसे गुनेहगार नहीं बनाता,


इस रंग बिरंगी दुनिया मे जहाँ बे शुमार और ला तादाद हकाईक पैदा किये हैँ वहाँ काला जादू ब्लैक मैजिक( kala jadu black magic) की भी एक हकीकत पैदा की गई है लेकिन बेशुमार लोग इस दुनिया मे आज भी ऐसे हैँ जो काला जादू(kala jadu) ब्लैक मैजिक(black magic) को नहीं मानते जो लोग तहजीब जदा हैँ उनका जिक्र तो छोड़ये लेकिन अफसोस नाक बात तो ये है कि वोह लोग जो खुदको साहबे अक़ीदा समझते हैँ वोह भी काला जादू(kala jadu) ब्लैक मैजिक(black magic) की हकीकत को झुटलाते हैँ जबकि जादू का तजकिरा अल्लाह की आखरी किताब कुरआन हकीम मे जघा जघा आया है अगर जादू बे हकीकत होता तो कुरआन पाक मे इसका तजकरा करने के बाद उसको बे हकीकत बताया जाता लेकिन कुरआन ने किसी जघा काला जादू(kala jadu)को बे असर और बे हकीकत करार नहीं दिया है बल्कि मुख्तलिफ अंदाज से उसकी हकीकत को तस्लीम किया है जिस तरह बन्दुक की गोली और तलवार की धार अपने अन्दर एक असर रखती है और ये असर अल्लाह ही का पैदा करदा असर है उसी तरह काला जादू(kala jadu) टोना भी अपने अन्दर तासीर रखता है लेकिन ये तासीर अल्लाह ताला की बिलकुल उसी तरह मोहताज है जिस तरह दुनिया कि हर असर अंगेज चीज अपना असर दिखाने मे अल्लाह की मोहताज है सहर काला जादू (kala jadu) ke सिलसिले मे बरसहा बर्ष तक उलमा और अक्ला के दरमियान बहस होती रही है कोई इस हकीकत को मानता रहा कोई मुनकर रहा लेकिन अक्सर उलमा हक की राय ये है कि काला जादू(kala Jadu) ek हकीकत है और ये ब्लैक मैजिक (black magic)काला जादू(Kala jadu) बहुत ख़तरनाक भी होता है अल्लाह ताला ने अपने हिकमत और मसलहत कामला के पेशे नजर उसमे उसी तरह के असरात पैदा कर दिये हैँ जिस तरह दूसरी चीजों मे मौजूद हैँ मसलन जहर इन्सान की जिन्दगी को नुकसान पहुँचाता है लेकिन ये सब हुक्मे खुदा वंदी से ही होता है अगर अल्लाह का हुकुम मर्जी ना होतो जहर किसी को मार नहीं सकता और आग किसी को जला नहीं सकता आग बिला सुबह जलाने की सलाहियात रखती है लेकिन यहि आग किसी के लिये गुलजार भी बन सकती है पानी डिबोने की ताकत रखती है लेकिन यहि पानी किसी के लिये पत्थर की तरह जामिद भी बन जाता है वोह दरिया ही तो था जिसमे हजरत मूसा अलैहिस्सलाम के लिये 12 रास्ते बन गये थे और वोह भी दरिया ही था जिसने फिरऑन और उसकी लश्कर को डुबा दिया था और मूसा और उनके असहाब उस पर से गुजर गये थे कियोकि अल्लाह का हुकुम यहि था कि फिरऑन और उसके लाओ लश्कर को डिबो दो और मूसा अलैहिस्सलाम और उनके साथियो को पार करादो जैसा अल्लाह ताला का हुकुम होता है वैसा हि इस कैनात की हर चीज अपना असर दिखाती है,


जो लोग ब्लैक मैजिक(black magic) काला जादू(kala jadu)को मोस्सर बिज्जात समझते हैँ वोह काफिर हैँ लेकिन ब्लैक मैजिक(black magic) काला जादू(kala jadu) मे हुक्मे खुदा वंदी से एक असर निहा है और इस हकीकत को तमाम उलमा अहले सुन्नत वा अल जमात ने तस्लीम किया है अल बत्ता ब्लैक मैजिक(black magic) काला जादू (kala jadu) की तालीम हासिल करना सीखना या किसी को ब्लैक मैजिक(black magic) काला जादू (kala jadu) सिखाना तालीम देना दोनों ही बातें कुफरीयात हैँ और शरियत ने ब्लैक मैजिक (black magic) काला जादू(kala jadu) को शिर्क करार दिया है अलबत्ता ऐसे इल्म सीखना जिनसे ब्लैक मैजिक(black magic) काला जादू(kala jadu ) जैसे ख़तरनाक चीजों पर काबू पाया जा सके जरुरी है,,,


kala jadu

kala jadoo in hindi

kala jadu kaise kare

kala jadu ka tod

kala jadu karne ka tarika

kala jadu kaise sikhe

jadu घर

aulad ke liye dua

रूहानी अमलियात

kala Jadu


Rate This Article

Thanks for reading: ब्लैक मैजिक काला जादू सीखना या सिखाना black magic kala jadu sikhna, Sorry, my Hindi is bad:)

Getting Info...

एक टिप्पणी भेजें

Cookie Consent
We serve cookies on this site to analyze traffic, remember your preferences, and optimize your experience.
Oops!
It seems there is something wrong with your internet connection. Please connect to the internet and start browsing again.
AdBlock Detected!
We have detected that you are using adblocking plugin in your browser.
The revenue we earn by the advertisements is used to manage this website, we request you to whitelist our website in your adblocking plugin.
Site is Blocked
Sorry! This site is not available in your country.