Highlight

अल्लाह अपने बन्दों के लिये काफी है

अल्लाह की रजा की खुवाहिश हजरत अली दकाक ने फरमाया कि मैंने एक वीरान मस्जिद मे ऐसे जइफ अल उमर शख्स को बेक़रारी के साथ गिरया वजारी करते देखा कि उसकी आँख…

हाल ही की पोस्ट

साहबे बातिन शख्स रूहानियत

साहबे बातिन शख्स रूहानियत  हजरत अबु अली दकाक फरमाते हैँ कि एक दुकानदार अक्सर आपकी खानकाह मे हाजिर होकर अक्सर फुकरा के हमराह खाने मे शरीक होता और खु…

हजरत अबु अली दकाक का अमल

हजरत अबु अली दकाक का अमल हजरत अबु अली दकाक से मरवी है फरमाते हैँ कि एक दफा बशर हाफी एक दफा एक तरफ से गुजरे जहाँ कुछ लोग बैठे थे वोह लोग आपस मे कह र…

शैख़ अबु अली के कलाम मे गहराई

शैख़ अबु अली के कलाम मे गहराई जिंदगी के आखरी वक़्त मे आपकी ये कैफियत हो गई थी कि शाम के वक़्त अपने बाला खाने पर मौजूद आपके मजार के नजदीक और इस वक़्त बै…

मस्ती और बे खुदी हजरत शैख़ अबु अली दकाक

मस्ती और बे खुदी हजरत शैख़ अबु अली दकाक हजरत शैख़ अबु अली दकाक का वाक़्या है कि एक वक़्त ऐसा भी आया कि जब आपके पास पहनने के लिये कोई भी लिबास ना था रिव…

हजरत सय्यद अब्दुल कादिर जीलानी की करामत

हजरत सय्यद अब्दुल कादिर जीलानी की करामत हजरत अबु सईद का बयान है कि उनकी क्वारी बेटी फातमा एक रोज अचानक मकान की छत पे से गायब हो गई काफी खोज लगाया मग…

एक बूढ़े की तौबा का किस्सा गौस पाक

एक बूढ़े की तौबा का किस्सा गौस पाक  हजरत अब्दुल कादिर जीलानी एक रोज सब्र वा इस्तेकामत और ऐसार के मौजू पर हाजरीने मजलिश को दर्स दे रहे थे कि अचानक खाम…

मुफलिस गरीब की तलाश गौस आजम

मुफलिस गरीब की तलाश गौस आजम एक दफा हजरत सय्यद अब्दुल कादिर जीलानी हज पर रवाना हुऐ रास्ते मे हिला नामी एक कस्बे मे कयाम किया फरमाया जहाँ मुफलिसी के …

सिर्फ एक खुदा का ख्याल हज़रत गौस पाक

सिर्फ एक खुदा का ख्याल हज़रत गौस पाक हजरत सय्यद अब्दुल कादिर जीलानी का कौल है कि मैं कई साल कर्ख के विरान मैदानों मे रहा वहाँ मेरी खुराक सहराई खुजूर …

साहबे मुआर्फ़त के तकरीर का असर गौस पाक

साहबे मुआर्फ़त के तकरीर का असर गौस पाक एक दफा हजरत सय्यद अब्दुल कादिर जीलानी के साहब जादे हजरत अबु अब्दुल्लाह अब्दुल वहाब स्याहते ममालिक और हुसुले…

गौस पाक अल्लाह ताला का शुक्र अदा करने का वाक़्या

गौस पाक अल्लाह ताला का शुक्र अदा करने का वाक़्या हजरत सय्यद अब्दुल कादिर जीलानी का कहना है कि एक मर्तबा आप पर भूक का शदीद गलबा हुआ चलने की ताकत ना र…

इलहाम और वस्वसे मे फर्क

इलहाम और वस्वसे मे फर्क हजरत शैख़ अबु सईद का वाक़्या है कि एक मर्तबा आप निशा पुर से तोस तशरीफ ले जा रहे थे शैख़ अबु मुस्लिम फ़ारसी आपके साथ थे सर्दी बहु…

शैख़ अबु सईद अबु अल खैर का रूहानी मर्तबा

शैख़ अबु सईद अबु अल खैर का रूहानी मर्तबा हजरत अबु अल हसन खुरकानी के बेटे अहमद को किसी ने कतल कर दिया जब आप उसे नेहला धुलाकर कफन पहना चुके तो हजरत अब…
Cookie Consent
We serve cookies on this site to analyze traffic, remember your preferences, and optimize your experience.
Oops!
It seems there is something wrong with your internet connection. Please connect to the internet and start browsing again.
Site is Blocked
Sorry! This site is not available in your country.